उद्यमी सम्मेलन में बोले मुख्यमंत्री योगी-बंद कमरे में नहीं बनी उत्तरप्रदेश की उद्योग नीति
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि उद्योग नीति बंद कमरे में नहीं बनी है। हमने जनता और विशेषज्ञों की राय से इसे बनाया है। सर्किट हाउस के एनेक्सी सभागार में 'पूर्वांचल में उद्योग विकास की संभावनाएं' विषय पर आयोजित उद्यमी सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि  दुनिया में सबसे अच्छा टैक्स रेट इंडिया में है। अमेरिका और चीन के ट्रेड वॉर को देख कर इसे तय किया गया है। यही वजह है कि एप्पल यहां 12 हजार करोड़ का निवेश करना चाहती है। इससे यूपी में भी लाभ होगा।
उन्होंने कहा हम जीएसटी भरने की व्यवस्था को सरल और तेज करेंगे। जीएसटी को लेकर कुछ लोग बेवजह दुष्प्रचार कर रहे हैं। आज उद्यमी मान रहे हैं कि यह टैक्स सरल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्यमियों की समस्याएं हर हाल में समय से हल होनी चाहिए। इसके लिए संबंधित जिले स्तर पर डीएम-एसएसपी, मंडल स्तर पर कमिश्नर-आईजी हर महीने उद्यमियों के साथ बैठक कर उनकी समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करेें। हर तीन महीने पर प्रदेश स्तर की यही बैठक मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में होगी। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने छह उद्यमियों को सम्मानित भी किया।
कमिश्नर जयंत नार्लिकर ने सभी का स्वागत किया। गीडा के सीईओ संजीव रंजन ने आभार जताया। इस दौरान महापौर सीताराम जायसवाल, विधायक शीतल पांडेय, एसके अग्रवाल, आरएन सिंह, प्रवीण मोदी, आलोक चौरसिया, योगेंद्र दूबे, डॉ. आरिफ  साबिर, धनंजय सिंह आदि उपस्थित रहे।

एक ट्रिलियन डॉलर वाली अर्थव्यवस्था की तरफ बढ़ रहा यूपी: आयुक्त



गीडा के स्थापना दिवस के मौके पर मंचासीन सीएम योगी आदित्यनाथ, मेयर सीताराम जायसवाल व अन्य। - फोटो : अमर उजाला


औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक कुमार ने कहा कि यूपी एक ट्रिलियन यूएस डॉलर वाली अर्थव्यवस्था बनने की तरफ  तेजी से बढ़ रहा है। गोरखपुर में विकास की नई इबारत लिखी जा रही है। एम्स बनकर तैयार होने के करीब है तो अगले साल से यूरिया खाद कारखाना में उत्पादन शुरू हो जाएगा। करीब 5800 करोड़ रुपये से प्रस्तावित 91 किमी लंबा गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस दो साल में बन जाएगा।
लिंक एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ औद्योगिक कॉरिडोर में कई उद्योग लगेंगे। उन्होंने उद्यमियों को भरोसा दिलाया कि प्रदूषण रोकने के लिए जल्द ही गीडा में सीईटीपी स्थापित किया जाएगा। नमामि गंगे योजना के तहत केंद्र प्लांट के लिए रकम देगी। गीडा में स्टील और टेक्सटाइल के उद्योग का विशेष महत्व है। इन्वेस्टर्स समिट में 2500 करोड़ का प्रस्ताव आया था, इनमें से चार इकाइयां शुरू हो गईं हैं। अन्य निवेशकों से भी बात हो रही है।
जल्द बनेगा सीईटीपी: कमिश्नर
कमिश्नर जयंत नार्लीकर ने कहा कि 76 गांवों के नोटिफि केशन के साथ गीडा की स्थापना हुई थी। 18 गांव को लेकर फि र नोटिफि केशन हो गया है। सीईटीपी को लेकर गीडा 17 करोड़ का अपना हिस्सा देने को तैयार है। नमामि गंगे योजना के तहत 40 करोड़ केंद्र से मिलेंगे।



बोले उद्यमी व एक्सपर्ट---
नई उद्योग नीति में रोजगार सृजन की अपार संभावनाएं हैं। सरकार मेगा प्रोजेक्ट को लेकर कई सहूलियतें दे रही है। 100 एकड़ जमीन पर औद्योगिक विकास पर स्टांप ड्यूटी में 100 फ ीसदी की छूट दी जा रही है। 100 से 250 करोड़ के बीच का निवेश मेगा प्रोजेक्ट की श्रेणी में आता है। इसमें 500 लोगों को रोजगार मिल रहा है। - अर्पण सान्याल, कंसलटेंट
केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार ने उद्योगों को खूब बढ़ावा दिया है। इन्वेस्टर्स समिट के समय यूपी में डिफेंस कॉरिडोर का एलान हुआ था। अब इस पर अमल हो रहा है। यूपी में हर जरूरी संसाधन और माहौल है। डिफेंस में निवेश की भी खूब संभावनाएं हैं। - मनोज गुप्ता, काउंसिल सदस्य, फिक्की
उद्योगों की स्थापना और उचित माहौल की दिशा में यूपी सरकार कई काम कर रही है मगर यहां के उद्योगों को पंजाब, उत्तरांचल आदि राज्यों की तरह पांच रुपये प्रति यूनिट की दर पर बिजली मुहैया कराई जानी चाहिए। उचित दर पर जमीन दी जाए। यह कृषि क्षेत्र है इसलिए यहां फूड प्रोसेसिंग पार्क और टेक्सटाइल पार्क की स्थापना की जरूरी है।  - विष्णु प्रसाद अजीत सरिया, अध्यक्ष, चेंबर ऑफ  इंडस्ट्रीज
प्रदेश सरकार की नई आबकारी नीति से कारोबार 150 फ ीसदी बढ़ गया है। ऑर्गेनिक खेती का भविष्य है। इसकी बिक्री बड़े शहरों में हो सकती है। हमे 70 फीसदी पैकेजिंग बाहर से करनी पड़ रही है ऐसे में गीडा के विस्तार के लिए रेल टर्मिनल की जरूरत है। उद्यमियों को समाज हित में शिक्षा-स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी योगदान देना चाहिए।



Popular posts
स्वामी जगजीवन दास के अस्ताने पर जमा हुई हजारों श्रद्धालुओं की भीड़
वाराणसी : पिता ने तीन बेटियों के साथ की आत्महत्या, सट्टेबाजी के कारण डूबा था लाखों के कर्ज में
Image
ग़ैर जनपद से आए व्यक्ति के परीक्षण कराने का बिरोध करने पर कार्यबाही
निजी विद्यालयों कॉन्वेंट स्कूलों की फीस ना जमा किए जाने के संबंध में मांग
Image
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image