जो अपने मां - बाप को नाराज़ करता है उसकी सारी इबादतें रद कर दी जाती हैं - मौ. मो. रज़ा
बाराबंकी । जो अपने मां - बाप को नाराज़ करता है उसकी सारी इबादतें रद कर दी जाती हैं । यह बात मौलाना गुलाम अस्करी हाल में मरहूम सै.मो.मेहदी हसन की मजलिस ए छमाही को खिताब करते हुए आली जनाब मौलाना मो. रज़ा जैदपुरी ने कही । उन्होंने यह भी कहा कि जब इंसान अपने उसूलों से गुमराह हो जाता है तो जालिम हो जाता है ।पहाड़ ,पेड़,जानवर सब अपने उसूलों पर बाकी हैं, सिर्फ इंसान गुमरहीका शिकार है। मौलाना ने आगे कहा जब इंसान इल्म के साथ इबादत करेगा तो हर तरफ इबादत ही इबादत नज़र आएगी । इंसानियत और अखलाक नज़र आएगा । जब इल्म की कमी होती है तभी गुमरही का जन्म होता है। आखिर में करबला वालों के मसाएब पेश किये जिसे सुनकर मोमनीन रोने लगे । मजलिस से पहले अजमल किन्तूरी ने अपना कलाम पेश करते हुए पढ़ा -  एक पल में कहकहों के बुझ गये सारे चराग़,कौन आया है तबस्सुम की हवा पहने हुए ।सरवर करबलाई ने अपना कलाम पेश करते हुए पढ़ा -- करूंगा मैं भी क़सीदा रक़म  अली के लिए । चलेगा मेरा हमेशा क़लम अली के लिए ।इसके अलावा मोनिस रज़ा , मोनिस सरवर , सादिक , केयान व अरमान ने भी नज़रानये अक़ीदत पेश किया।मजलिस का आग़ाज तिलावते कलाम पाक से अरमान ने किया। बानिये मजलिस ने सभी का शुक़्रिया अदा किया। 

Popular posts
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
निजी विद्यालयों कॉन्वेंट स्कूलों की फीस ना जमा किए जाने के संबंध में मांग
Image
सोशल डिस्टेंस जरूरी है विश्व परिवार दिवस पर संकल्प ले - सरदार पतविंदर सिंह
Image
स्वच्छता के प्रति जागरूक सफाई कर्मी  लाक डाउन के प्रति हम क्यो नही    
Image
ग़ैर जनपद से आए व्यक्ति के परीक्षण कराने का बिरोध करने पर कार्यबाही