राम मंदिर निर्माणः राजस्थान ही नहीं यहां के पत्थर भी बनेेंगे मंदिर का आधार
रामजन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ के फैसले के बाद मंदिर निर्माण की तैयारियां तेजी के साथ शुरू हो चुकी हैं। अब विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की आेर से राम मंदिर निर्माण के लिए प्रयागराज के शंकरगढ़ क्षेत्र से पत्थरों की खेेप को अयोध्या पहुंचाने का कार्य शुरू कर दिया गया है।
दरअसल, रामजन्म भूमि मंदिर न्यास की आेर से अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए पत्थरों को तराशने का कार्य पिछले कई सालों से चल रहा है। जानकारी के मुताबिक, मंदिर निर्माण में लगने वाले तकरीबन 70 फीसदी पत्थर को अंतिम रूप देने का काम भी पूरा हो चुका है। हालांकि, सबसे अधिक पत्थर राजस्थान से ही मंगाए गए हैं।
विहिप के केंद्रीय संत संपर्क प्रमुख अशोक तिवारी बताते हैं कि राजस्थान से जो भी पत्थर अयोध्या लाए गए हैं, उनकी खासियत यह है कि इनका क्षरण बेहद कम होता है। हालांकि वहां खनन पर रोक लगने के बाद अन्य विकल्पों पर विचार किया गया है। इसमें शंकरगढ़ और मिर्जापुर के लाल बलुआ पत्थर को उपयोग के लिए मंगाने पर मंथन किया जा रहा है।
शंकरगढ़ के पत्थर से ही बना है अकबर का किला
बता दें कि शंकरगढ़ के पत्थर भी गुणवत्ता में काफी अच्छे होते हैं। पहले भी कई एतिहासिक इमारतों मसलन, संगम तट पर स्थित अकबर के किले के निर्माण में भी यहां के पत्थरों का उपयोग हुआ है।  
हर वर्ष यमुना में आने वाली बाढ़ के दौरान किले की एक चौथाई से ज्यादा दीवार पानी में ही डूब जाती है, लेकिन किसी तरह का नुकसान नहीं होता है।
इसके अलावा शंकरगढ़ स्थित गढ़वा के किले में भी इन्हीं पत्थरों का उपयोग किया गया है। मौर्योत्तर काल के उपरांत तीसरी शताब्दी ईस्वी में अस्तित्व में आए तीन राजवंशों में से एक गुप्त वंश में बने इस किले को भी शंकरगढ़ केे ही उन्नत पत्थरों से ही बनाया गया है। यह किला भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा संरक्षित है।

Popular posts
स्वच्छता के प्रति जागरूक सफाई कर्मी  लाक डाउन के प्रति हम क्यो नही    
Image
धोखाधड़ी कर फ़र्ज़ी नाम से फ़ाइनेंस कराकर मोटरसायकिल बेचने वाले दो अभियुक्त गिरफ़्तार , 77 बाइक बरामद
Image
कृषि सूचना तंत्र का सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम एवं नेशनल फूड सिक्यारिटी मिशन
Image
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
सांसद ने आगरा एक्सप्रेस-वे पर लंच पैकेट किया वितरण
Image