पुनर्विचार याचिका दायर करना मुस्लिमों के लिए ठीक नहींः शाह
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति ले. जनरल (सेवानिवृत्त) जमीरउद्दीन शाह अयोध्या मामले में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर करने के पक्ष में नहीं हैं। उनका मानना है कि ऐसा करना मुसलमानों के लिए नुकसानदेह होगा। मस्जिद के लिए दी जा रही जमीन पर स्कूल या अस्पताल बनना चाहिए क्योंकि अयोध्या में मस्जिदें तो बहुत हैं पर नमाजी नहीं हैं।
पिछले महीने लखनऊ में आयोजित इंडियन मुस्लिम फॉर पीस की बैठक में अयोध्या विवाद सुलझाने के लिए वक्फ बोर्ड की 2.77 एकड़ जमीन हिंदुओं को उपहार में देने की वकालत कर जनरल शाह चर्चा में आए थे। अयोध्या मामले में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले पर उनका कहना है कि वह इसका सम्मान करते हैं। उनकी राय में अभी इस मामले को दबा देना चाहिए। पुनर्विचार याचिका दायर करेंगे तो हंडिया पकती रहेगी और नुकसान मुसलमानाें को होगा। अभी आग बुझा लें और फैसले को स्वीकार करें।
सर्वोच्च न्यायालय द्वारा मस्जिद के लिए पांच एकड़ जमीन अलग से देने का आदेश दिया गया है। कुछ लोग जमीन लेने के पक्ष में नहीं हैैं। जनरल शाह का कहना है कि पांच एकड़ जमीन जरूर लेनी चाहिए। वहां स्कूल या अस्पताल भी बना सकते हैं। अयोध्या में मस्जिदें बहुत है लेकिन नमाजी नहीं हैं। अभी इल्म की मस्जिद बनाने की जरूरत है।

Popular posts
स्वच्छता के प्रति जागरूक सफाई कर्मी  लाक डाउन के प्रति हम क्यो नही    
Image
धोखाधड़ी कर फ़र्ज़ी नाम से फ़ाइनेंस कराकर मोटरसायकिल बेचने वाले दो अभियुक्त गिरफ़्तार , 77 बाइक बरामद
Image
कृषि सूचना तंत्र का सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम एवं नेशनल फूड सिक्यारिटी मिशन
Image
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
सांसद ने आगरा एक्सप्रेस-वे पर लंच पैकेट किया वितरण
Image