पीएसयू बैंकों के बाद अब होगा इन तीन ग्रामीण बैंकों का विलय, 2050 शाखाओं पर पड़ेगा असर
केंद्र सरकार ने हाल ही में 10 सरकारी बैंकों का विलय करने की घोषणा की थी। इसके बाद अब वित्त मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश में कार्यरत तीन ग्रामीण बैंकों का भी विलय करने की घोषणा कर दी है। वित्त मंत्रालय ने कहा है कि 1 अप्रैल 2020 से प्रदेश में कार्यरत पूर्वांचल बैंक, काशी गोमती संयुक्त ग्रामीण बैंक और बड़ौदा यूपी ग्रामीण बैंक का विलय हो जाएगा। विलय के पश्चात इस बैंक को बड़ौदा यूपी बैंक के नाम से जाना जाएगा। विलय से 2050 शाखाओं में मौजूद ग्राहकों के खाते में इसका असर पड़ेगा।

गोरखपुर में होगा प्रधान कार्यालय


विलय के बाद बने नए बैंक का प्रधान कार्यालय गोरखपुर में होगा। विलय के बाद बने बड़ौदा यूपी बैंक में पूर्र्वांचल बैंक की 600, काशी गोमती संयुक्त ग्रामीण बैंक की 478 व बड़ौदा यूपी ग्रामीण बैंक की 972 शाखाएं शामिल होंगी। इनकी कुल संख्या 2050 होगी। यह बैंक 31 जिलों में कार्य करेगा।

यह हैं ग्रामीण बैंकों की प्रवर्तक बैंक


बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक की प्रवर्तक बैक--बैंक ऑफ बड़ौदा है। वहीं काशी गोमती समयुक्त ग्रामीण बैंक की प्रवर्तक यूनियन बैंक ऑफ इंडिया है, वहीं पूर्वाचंल बैंक की प्रवर्तक भारतीय स्टेट बैंक है। केंद्र सरकार ने नोटिफिकेशन में कहा है कि नाबार्ड और प्रवर्तक बैंकों से सलाह लेने के बाद यह फैसला किया गया है। 

इन जिलों में होगी शाखाएं


इस बैंक की शाखाएं इटावा, बलिया, जौनपुर,पीलीभीत, गोरखपुर, इलाहाबाद, आंबेडकर नगर, अमेठी, औरैया, आजमगढ़, बरेली, बस्ती, भदोही, चंदौली, देवरिया, फैजाबाद, फतेहपुर, गाजीपुर, कानपुर देहात, कानपुर नगर, कौशांबी, कुशीनगर, महराजगंज, मऊ, पीलीभीत, प्रतापगढ़, रायबरेली, संतकबीर नगर, शाहजहांपुर, सिद्धार्थनगर, सुल्तानपुर व वाराणसी में होंगी। देश के ग्रामीण इलाकों में बैंकिंग सुविधाएं पहुंचाने में इन बैंकों का बहुत बड़ी भूमिका रही है।

Popular posts
वाराणसी : पिता ने तीन बेटियों के साथ की आत्महत्या, सट्टेबाजी के कारण डूबा था लाखों के कर्ज में
Image
बाबा हरि शंकर दास जी महाराज कि पुण्य स्मृति
Image
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
रिक्त पदों पर पंचायत उपचुनाव का जायजा लेने पहुंचे डीएम व एसपी
Image
चिन्मयानंद केसः पीड़िता की जमानत याचिका पर सुनवाई टली, पीड़िता के वकील ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप