मण्डलायुक्त श्री मुकेश मेश्राम की अध्यक्षता में लखनऊ शहर को स्वच्छ सुगम व खूबसूरत बनाये

लखनऊः- 18 नवम्बर 2019,  मण्डलायुक्त श्री मुकेश मेश्राम की अध्यक्षता में लखनऊ शहर को स्वच्छ सुगम व खूबसूरत बनाये जाने शहर के सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार व शहर के निवासियों को ट्रान्सपोर्ट की बेहतर सुविधा मुहैया कराने के सम्बन्ध में एक बैठक मण्डलायुक्त कार्यालय सभागार में शहर के वास्तुविदों के साथ सम्पन्न हुयी।
बैठक में मण्डलायुक्त द्वारा शहर को स्वच्छ सुगम, चाइल्ड फ्रेण्डली सिटी, पब्लिक ट्रांसपोर्ट एवं पर्यावरण संरक्षण, शहर के प्राथमिक विद्यालयों को बच्चों हेतु आकर्षित बनाये जाने उनका सौन्दर्यीकरण कराये जाने, विद्यालयों के भवनों में पेन्टिग्स कराये जाने, खेलकूद के उपकरण उपलब्ध कराये जाने एवं वाटर बाड़ीज को संरक्षित किये जाने एवं शहर में विभिन्न क्षे़त्रों को छोटे-छोटे  सुझावों/कार्यो से किस प्रकार से सुधार किया जा सकता है के सम्बन्ध में बहुमूल्य विचार विमर्श किया गया।
मण्डलायुक्त ने कहा कि शहर में सरकारी स्कूलों की शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए सरकारी शिक्षकों के अलावा वहां पर समय-समय पर विशेषज्ञ टीचरों और प्रोफेशनल की मदद ली जायेगी। उनके लेक्चर होंगे ताकि बच्चों को अपग्रेड किया जा सकें इसके साथ ही सिटीजन की भी मदद ली जायेगी। उन्होने कहा कि बच्चों में शिक्षा के साथ-साथ हमें उनके लिए नेचुरल वातावरण भी स्थापित करना है क्योंकि बच्चे स्कूल से आने के पश्चात घर में कैद होकर  रह जाते है जिससे उनकी सीखने व कार्य करने की क्षमता प्रभावित  होती है और विकसित नहीं हो पाती है। इसके लिए शहर के विभिन्न स्थानों पर बच्चों के लिए टहलने, साइकिलिंग करने व मनोरंजन हेतु झूले की व्यवस्था व खेल के मैदान पार्कों में विकसित किये जायेंगे। उन्होने कहा कि बच्चों के प्वाइन्ट आॅफ व्यू से यदि हम कुछ अच्छा कर सकें, उसके लिए क्या-क्या उपाय हो सकते है यदि किसी के पास कोई सुझाव हो तो उपलब्ध करा सकता है। उन्होने कहा कि बच्चों को अच्छे संस्कार व गुणवत्तापूर्ण  शिक्षा प्रदान कर ही हम आने वाले समय में समाज में एक अच्छा महौल स्थापित  कर सकते है।    
बैठक मेें वास्तुविद संघ द्वारा अवगत कराया गया कि लखनऊ शहर में लगभग 250 वास्तुविद इस संघ से जुड़े हुए है एवं लखनऊ नगर निगम के प्रत्येक वार्ड में 3-4 वास्तुविदों की एक टीम 2 सप्ताह में गठित कर ली जायेगी, जो कि अपने-अपने क्षेत्रों में पड़ने वाले स्कूल, फुटपाथ, लैण्डस्केपिंग, पर्यावरण सम्बन्धी अन्य विभिन्न समस्याओं के समाधान हेतु कान्सेप्ट नोट एक माह की अवधि में प्रस्तुत करेगी। प्रस्तुत कान्सेप्ट नोट पर विचार करते हुए विभिन्न विभागों से उसमें सुधार करने की कार्यवाही की जायेगी।


Popular posts
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
निजी विद्यालयों कॉन्वेंट स्कूलों की फीस ना जमा किए जाने के संबंध में मांग
Image
सोशल डिस्टेंस जरूरी है विश्व परिवार दिवस पर संकल्प ले - सरदार पतविंदर सिंह
Image
स्वच्छता के प्रति जागरूक सफाई कर्मी  लाक डाउन के प्रति हम क्यो नही    
Image
ग़ैर जनपद से आए व्यक्ति के परीक्षण कराने का बिरोध करने पर कार्यबाही