आईआरटीटीसी पहुंचा लखनऊ-प्रयाग शताब्दी का टाइमटेबल, नए साल में मिल सकती है सौगात
लखनऊ से प्रयाग के बीच शुरू होने वाली शताब्दी एक्सप्रेस की समयसारिणी इंडियन रेलवे टाइम टेबल कमेटी (आईआरटीटीसी) पहुंच गई है। इस पर मंथन शुरू हो गया है। जल्द ही इस पर मुहर लगने की उम्मीद जताई जा रही है।
लखनऊ से प्रयागराज जाने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए एक हाईस्पीड व लग्जरी ट्रेन चलाने की मांग कुंभ के पहले ही उठ रही थी। इस पर कई बैठकें भी हुईं। इसके बाद संचालन के लिए रास्ते साफ होने लगे। दोनों शहरों के बीच लंबे समय से प्रस्तावित और लगातार टल रही शताब्दी एक्सप्रेस का संचालन साल के अंत तक करने की बात कही गई।
इस बाबत उत्तर मध्य रेलवे प्रशासन की ओर से तैयारियों को अमलीजामा पहनाया गया और टाइमटेबल तैयार कर उत्तर रेलवे को भेजा गया। दरअसल, लखनऊ से फाफामऊ तक उत्तर रेलवे का सेक्शन है, जबकि इसके आगे प्रयाग तक रेलवे सेक्शन उत्तर मध्य रेलवे का है।


डबलिंग जल्द होगी पूरी



उत्तर मध्य रेलवे के सीपीआरओ अजीत कुमार सिंह ने बताया कि शताब्दी के संचालन की समयसारिणी बनाकर उत्तर रेलवे को भेजी गई है। ट्रेन प्रयाग की ओर से सुबह रवाना कराने की तैयारी है, जबकि लखनऊ से वापसी शाम को होगी। हालांकि, इस पर मुहर लगनी बाकी है। सूत्र बताते हैं कि आईआरटीटीसी के पास टाइमटेबल पहुंच गया है और मंथन भी शुरू हो गया है।
इधर उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल के डीआरएम संजय त्रिपाठी ने बताया कि प्रयाग-फाफामऊ के बीच डबलिंग का बचा काम दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद शताब्दी एक्सप्रेस का संचालन आसान हो सकेगा। शताब्दी को लेकर दोनों जोनों के बीच विचार-विमर्श चल रहा है।




जांची जाती है टाइमिंग की फीजिबिलिटी



बता दें कि जब नई ट्रेन शुरू की जाती है तो उसका प्रस्तावित टाइमटेबल इंडियन रेलवे टाइम टेबल कमेटी (आईआरटीटीसी) को भेजा जाता है। जहां टाइमिंग की फीजिबिलिटी जांची जाती है और स्वीकृति मिल जाने के बाद ट्रेन संचालन की व्यवस्था की जाती है। मसलन, रोलिंग स्टॉक, बोगियों आदि की व्यवस्था इसके बाद होती है।
ऐसे में एक ओर जहां उत्तर मध्य रेलवे द्वारा दिसंबर तक ट्रेन शुरू करने का दावा किया जा रहा था, वह पूरा होता नजर नहीं आ रहा है।




Popular posts
केवल कलम में ताकत है सत्ता से टकराने की
कृषि सूचना तंत्र का सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम एवं नेशनल फूड सिक्यारिटी मिशन
Image
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
स्वच्छता के प्रति जागरूक सफाई कर्मी  लाक डाउन के प्रति हम क्यो नही    
Image
धोखाधड़ी कर फ़र्ज़ी नाम से फ़ाइनेंस कराकर मोटरसायकिल बेचने वाले दो अभियुक्त गिरफ़्तार , 77 बाइक बरामद
Image