अवैध क्लीनिकों पर हुई बड़ी कार्यवाही, एसडीएम ने सील कराए दवाखाने

हैदरगढ़, बाराबंकी। अवैध क्लीनिको के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान मे बड़ी कार्रवाई करते हुए हैदरगढ़ के एसडीएम प्रतिपाल सिंह और अधीक्षक धर्मेंद्र राय की टीम  ने कस्बा हैदरगढ़ में डॉक्टर राजेंद्र अग्रवाल की क्लीनिक पर छापा मारकर के अवैध रूप से संचालित हो रही क्लीनिक के दस्तावेज दिखाने का दो दिन का समय बीत जाने के बाद भी जवाब न देने और अवैध रूप से लगातार क्लीनीक चलाने पर बड़ी कार्रवाई करते हुए क्लीनिक को सील कर दिया और अधीक्षक से इस मामले में वैधानिक कार्रवाई करते हुए समय अंतर्गत जवाब ना देने पर जेल भेजने की कार्रवाई किए जाने के निर्देश भी दिए।
गौरतलब हो कि 2 दिन पहले अधीक्षक धर्मेंद्र राय द्वारा क्षेत्र में चल रहे अवैध के लोगों के खिलाफ अभियान चलाते हुए 2 दिन में जवाब मांगा गया था इसमें डॉ राजेंद्र अग्रवाल की क्लीनिक में जहां एक ओर एक्सपायरी दवाएं मिली थी तो वही सही तरीके से क्लीनिक का संचालन न होने और मौके पर दस्तावेज ना दिखाने के बाद 2 दिन का समय दिया गया। 2 दिन की अवधि शनिवार को पूरी होने के बाद भी कोई जवाब ना देने पर शासन के निर्देश पर जिला अधिकारी द्वारा एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निर्देश  एसडीएम हैदरगढ़ की अगुवाई में अधीक्षक,तहसीलदार और नायब तहसीलदार की टीम ने अवैध क्लीनिक को सील करने के निर्देश के बाद शाम करीब 4रू00 बजे एसडीएम प्रतिपाल सिंह, तहसीलदार पंकज दीक्षित अधीक्षक धर्मेंद्र राय मौके पर पहुंचे और अवैध रूप से चलते हुए पाया। इस पर जवाब ना देने के बाद कार्रवाई करते हुए क्लीनिक को बंद करके सील कर दिया गया। इसके पहले दोपहर सुबेहा क्षेत्र के कई क्लीनिको पर छापा मारा इस दौरान कई डॉक्टर क्लीनिक मे ताला बन्दकर फरार हो गये तो वही दवा जब्त कर नोटिस जारी कर दी गयी ।
जानकारी के अनुसार सी एच सी अधीक्षक धर्मेंद्र राय ने शनिवार की दोपहर सर्वप्रथम मरुई मे खुले राम सरन त्यागी के क्लीनिक पर छापा मारा लेकिन इसकी भनक पहले से डॉक्टर रामसरन त्यागी को होने पर क्लीनिक पर ताला मारकर फरार हो गया उसके बाद लोदीपुर मे डॉक्टर अबरार के क्लीनिक पर छापा मारा अधीक्षक धर्मेन्द्र राय ने डॉक्टर अबरार से चिकित्सा प्रमाण पत्र मांगा लेकिन कोई भी कागज नही दिखा पाये क्लीनिक पर मौजूद दवाए जब्त कर ली गयी यही नही किरसिया मे खुले दिव्यांश हॉस्पिटल पर भी छापेमारी की गई और संचालक को नोटिस देकर जवाब तलब किया गया है।  यदि समय के अवधि  के अन्दर अपने चिकित्सा सम्बन्धित जरूरी दस्तावेज  नही दिखा पाते है तो वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।
अधीक्षक धर्मेद्र राय ने बताया कि शासन के निर्देश पर अवैध क्लीनिकों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है और छापेमारी की जा रही है इसी अभियान में जवाब ना देने पर राजेन्द्र अग्रवाल की क्लीनिक पर जिलाधिकारी के आदेश पर सील कर दिया गया है और रिपोर्ट शासन को भेजी गई है , आगे भी अवैध क्लीनिक संचालको के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जाएगा।


Popular posts
केवल कलम में ताकत है सत्ता से टकराने की
कृषि सूचना तंत्र का सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम एवं नेशनल फूड सिक्यारिटी मिशन
Image
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
स्वच्छता के प्रति जागरूक सफाई कर्मी  लाक डाउन के प्रति हम क्यो नही    
Image
धोखाधड़ी कर फ़र्ज़ी नाम से फ़ाइनेंस कराकर मोटरसायकिल बेचने वाले दो अभियुक्त गिरफ़्तार , 77 बाइक बरामद
Image