पति व सास के झगड़े में विवाहिता ने बच्ची समेत लगाई नहर में झलांग सफाई कर्मी ने नहर में कूद कर बचाई मां-बेटी की जान

सिद्धौर, बाराबंकी। बुधवार को एक विवाहिता अपने पति व सास से झगड़ा होने के कारण झुब्ध होकर नवाबगंज रजबहा में अपनी 3 वर्षीय मासूम बच्ची के साथ छलांग लगा दी। वही पास से गुजर रहे सफाई कर्मचारी ने नहर में कूदकर मां बेटी की जान बचाई और 100 नंबर पर फोन कर पीआरबी पुलिस के हवाले किया।
कोठी थाना क्षेत्र के अंतर्गत अजौवा गांव निवासी जसवंत की पत्नी क्रांति देवी से किसी बात को लेकर विवाद हो गया इसी दौरान जसवंत की मां ने भी बहू को कुछ खरी खोटी सुना दी। जिससे क्षुब्ध होकर क्रांति ने अपनी 3 वर्षीय मासूम बच्ची के साथ जान देने की ठान ली।शाम लगभग 5 बजे घर पर कोई नहीं था तभी क्रांति अपनी 3 वर्षीय मासूम  बच्ची को लेकर घर से निकल गई। मगदूमपुर गांव के पास पहुंचकर अपनी 3 वर्ष की बच्ची को साड़ी से कमर में बांध लिया और उसके बाद नवाबगंज रजबहा में छलांग लगा दिया। तभी रसूलाबाद बिहारी लाल निवासी सर्वेश कुमार अपने खेत को मेंथा की कटाई करने जा रहा था।यह देख सर्वेश ने भी नहर में छलांग लगा दी और मां बेटी को सुरक्षित रजबहा से बाहर निकाल लिया। वहां लोगों की भीड़ लग गई इसकी सूचना पीआरबी पुलिस को दी गई।मौके पर पहुंची पीआरबी पुलिस ने महिला को घर छोड़ने की बात कही। जिस पर क्रांति देवी ने घर जाने से मना कर दिया जिस पर महिला के मायके बीबीपुर से क्रांति के पिता जसकरण को बुलाया गया। काफी देर समझाने बुझाने के बाद जसकरण अपनी पुत्री और नातिन को लेकर घर चले गए। सर्वेश कुमार विकासखंड सिद्धौर की ग्राम पंचायत शैदनपुर में सफाई कर्मचारी के पद पर तैनात हैं।नहर से मां बेटी को सही सलामत निकालने के लिए लोगों ने जमकर प्रशंसा की।इस संबंध में कोठी थानाध्यक्ष सुधीर कुमार सिंह का कहना है बुधवार की शाम पीआरबी पुलिस को सूचना मिली थी कि एक महिला अपनी बेटी के साथ नहर में छलांग लगा ली लगा दिया है सीआईडी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर विवाहिता को उसके पिता के घर भेज दिया है अभी तक कोई लिखित शिकायत प्राप्त नहीं है यदि कोई शिकायत प्राप्त होती है तो पूरे प्रकरण की जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।