लापरवाह अधिकारियों के कारण नही पूरा हुआ इंटरलॉकिंग कार्य 

कोटवासड़क, बाराबंकी। जहां सरकार द्वारा ग्रामीण अंचलों में गांव के विकास के लिए सदैव तत्पर है तो वही उनके जिम्मेदार अधिकारी व कर्मचारी खुलेआम शासन द्वारा संचालित   योजनाओं  की उड़ा रहे धज्जियां। सर्वविदित है कि अब आगे दिन आने वाले हैं जिसे लेकर शासन प्रशासन का चैकन्ना है लेकिन ब्लॉक को में तैनात ग्राम सचिव  ग्राम प्रधान व सफाई कर्मी तनिक भी अपने जिम्मेदारी का निर्वाहन नहीं करते हैं। मामला ब्लॉक बनिकोडर के अंतर्गत भवनियापुर  खेवली ग्राम पंचायत के पिपरिहा से जुड़ा है यहां पर ग्राम प्रधान द्वारा करीब में 6 महीना पहले बीच खड़ंजा को खोदकर नाली निकाली गई थी जिस पर ढक्कन रखकर बंद करना था लेकिन यह अपना काम करना भूल गए नाली तो बन गई लेकिन नाली पर ढक्कन न रखे जाने के कारण ग्रामीणों को आने जाने में  असुविधा होती है। इतना ही नहीं इस गांव में भ्रष्टाचार का इतना बोल बाला है की समय पर कोई काम पूरा नहीं किया जाता है। ग्रामीणों ने बताया कि प्रधान व ग्राम विकास अधिकारी की मिलीभगत से गांव के विकास में अड़चनें आ रही हैं गांव के लिए इंटरलॉकिंग का काम बड़े दो से शुरू करवाया गया था लेकिन इस इंटरलॉकिंग को आधे अधूरे में ही छोड़ दिया गया है लोगों का कहना है कि आगे आने वाले समय में पानी भर जाएगा जिससे निकलना दूभर हो जाएगा । ग्रामीणों का कहना है कि शायद ग्राम विकास अधिकारी हुआ ग्राम प्रधान पति रामप्रकाश भूल गए हैं इंटरलॉकिंग को पूरा करवाना। जिसका खामियाजा गांव के लोगों को भुगतना पड़ सकता।सचित्र