विधायक के भाई से मारपीट में पांच को तीन साल की सजा
अमरोहा। नौ साल पहले सदर विधायक महबूब अली के भाई के साथ हुई मारपीट के मामले में न्यायालय ने पांच आरोपियों को तीन-तीन साल की सजा सुनाई है। साथ ही दस हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। खास बात यह है कि वादी की मौत हो गई। वादी के मरने के बाद आरोपियों को सजा मिली है। सभी आरोपी जमानत पर जेल से बाहर थे। जिन्हें कस्टडी में लेकर जेल भेज दिया गया 
रजबपुर थानाक्षेत्र के गांव शकरपुर में महफूज अली भट्ठा संचालक हैं। महफूज अली अमरोहा के विधायक महबूब अली के बड़े भाई हैं। महफूज अली का आरोप था कि वह 25 जुलाई 2010 की शाम घर में बैठे हुए थे। तभी गांव के कुछ लोगों ने लाठी-डंडे, चाकू और हथियारों के साथ हमला कर हत्या करने की कोशिश की। तमंचे से चेहरे पर प्रहार किया, जिससे वह लहूलुहान हो गए थे। तहरीर के आधार पर पुलिस ने गांव ही नौबत अली, लियाकत अली, रिजवान अली, लियाकत और इंतजार के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा कराया था। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसके बाद से आरोपी जमानत पर जेल से बाहर थे। मुकदमा अपर सत्र न्यायाधीश शंकर लाल की अदालत में विचाराधीन था। अभियोजन पक्ष की तरफ से शासकीय अधिवक्ता रविंद्र गर्ग ने जोरदार पैरवी की। साक्ष्य के अभाव में न्यायालय ने हत्या की कोशिश के आरोप को खारिज कर दिया। घर में घुसकर मारपीट करने के मामले में आरोपियों को दोषी पाया। न्यायालय ने सभी को तीन-तीन साल की सजा सुनाई और दो-दो हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। शासकीय अधिवक्ता रविंद्र गर्ग ने बताया कि वादी महफूज अली की करीब एक साल पहले मौत हो चुकी है। इससे पहले वह अपने बयान न्यायालय के सामने दर्ज करा चुके थे

Popular posts
वाराणसी : पिता ने तीन बेटियों के साथ की आत्महत्या, सट्टेबाजी के कारण डूबा था लाखों के कर्ज में
Image
ग़ैर जनपद से आए व्यक्ति के परीक्षण कराने का बिरोध करने पर कार्यबाही
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
लॉकडाउन  में  भी  बेच रहे थे शराब , पांच लोग गिरफ्तार । 
निजी विद्यालयों कॉन्वेंट स्कूलों की फीस ना जमा किए जाने के संबंध में मांग
Image