ऑलिव ऑयल में बना कम मिर्च मसाले का खाना पसंद करते हैं राष्ट्रपति जबकि पत्नी को पसंद है तीखा
राष्ट्रपति दोपहर का भोजन छत्रपति शाहू जी महाराज यूनिवर्सिटी में, हाई-टी और डिनर सर्किट हाउस में करेंगे। पांच सितारा होटल लैंडमार्क के शेफ राष्ट्रपति के भोजन की तैयारी करेंगे। राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री के लिए अलग अलग भोजन तैयार होगा।
राष्ट्रपति केवल ऑलिव ऑयल और मुख्यमंत्री देसी घी में बना खाना ही खाते हैं। मुख्यमंत्री बिना प्याज लहसुन का खाना खाते हैं। राज्यपाल की ओर से खाने की कोई स्पेशल फरमाइश नहीं आई है। राष्ट्रपति ज्यादा तीखा खाना नहीं पसंद करते हैं जबकि उनकी पत्नी को तीखा खाना पसंद है


मुख्यमंत्री केवल स्टील के बर्तनों में ही खाना खाते हैं। होटल लैंडमार्क के शेफ को खाना बनाने की जिम्मेदारी जरूर मिली है, लेकिन खाना राष्ट्रपति की टेबल पर उनके निजी खानसामे के परखने के बाद ही जाएगा। राष्ट्रपति के लिए खाना बनाने वाले होटल के शेफ बलराम कहते हैं कि उनको भिंडी बेहद पसंद है।
इसके अलावा शुगर फ्री गाजर का हलवा भी दोपहर की सूची में शामिल किया गया है। राष्ट्रपति के लिए हाई-टी और डिनर का इंतजाम सर्किट हाउस में किया गया है। हाई-टी में ग्रीन टी, चाय कॉफी के अलावा समोसा, कटलेट और कुकीज है। बलराम कहते हैं कि उनके साथ तीन लोगों की टीम यूनिवर्सिटी और सर्किट हाउस भोजन की व्यवस्था करने जाएगी। 



ये है मेन्यू 
लंच: टमैटो बेसिल सूप, ग्रीन सलाद, मिक्स वेज रायता, खल्लड़ पनीर (खड़े मसालों से बना हुआ), गोभीमटर, भिंडी, लौकी चना, टिंडी भुर्जी, मेथी वेजिटेबल कोफ्ता, पीली दाल तड़का, मल्टीग्रेन तवा रोटी और शुगर फ्री गाजर का हलवा।  
डिनर: रोसटेड पंपकिन सूप या मनचाओ सूप, ग्रीन सलाद, मिंट बूंदी रायता, पालक पनीर, जीरा आलू, दाल पंच मेल, वेजिटेबल कोफ्ता, जीरा राइस, लौकी की खीर और गुलाब जामुन। 



Popular posts
वाराणसी : पिता ने तीन बेटियों के साथ की आत्महत्या, सट्टेबाजी के कारण डूबा था लाखों के कर्ज में
Image
ग़ैर जनपद से आए व्यक्ति के परीक्षण कराने का बिरोध करने पर कार्यबाही
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
लॉकडाउन  में  भी  बेच रहे थे शराब , पांच लोग गिरफ्तार । 
निजी विद्यालयों कॉन्वेंट स्कूलों की फीस ना जमा किए जाने के संबंध में मांग
Image