प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने वीडियो कान्फ्रेसिंग में अधिकारियों को दिये दिशा निर्देश संचारी रोग नियंत्रण अभियान पर सरकार गंभीर 0 1 से 31 जुलाई संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाया जाएगा

मेरठ । आगामी 1 से 31 जुलाई तक चलाये जाने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान के लिये प्रदेश सरकार पूरी गंभीर है। अभियान में किसी प्रकार की कोई कमी न रहे। इसके लिये पुख्ता इंतजाम किये जा रहे हैं।बुधवार को इसी परिपेक्ष में कलेक्ट्रेट के एनआईसी में वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रशांत त्रिवेद्वी ने प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी करते हुए तैयारी की समीक्षा की ।
वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से प्रमुख सचिव ने स्वास्थ्य अधिकारियों से अभी तक की गयी तैयारी का जाएजा लेते हुए समीक्षा की। उन्होनें कहा कि गंदगी और जलभराव से मच्छर और कई प्रकार के कीड़े मकोड़े पनपते हैं। जो सबसे ज्यादा रोगों का कारण बनते है। इसके तेजी से फैलने के कारण डेंगू ,मलेरिया,चिकनगुनिया जैसे संचारी रोग फैलते हैं। उन्होंने कहा कि सभी सरकारी विभाग और सामाजिक संस्थाएं मिलकर जन जागरूकता कार्यक्रम चलाएं।इसके तहत गोष्ठीए कार्यशालाए नुक्कड़ नाटक किये जाएं साथ ही बैनर पोस्टर व पम्पफ्लेट्स के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाए।उन्होंने साफ कहा कि इस अभियान में कोई हीलाहवाली नहीं की जाएगी। सभी की जिम्मेदारी बनती है। लापरवाही किसी भी हालत में बर्दास्त नहीं जाएगी।
वीडियो कान्फ्रेंसिंग के बाद सीएमओ डा राजकुमार ने बताया कि वीडियो कान्फ्रेस में आगामी 1जुलाई से 31 जुलाई तक चलाये जाने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान पर दिशा निर्देश दिये गये हैं। अभियान में वैक्टर जनित बीमारियों के प्रति लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसके लिए सिनेमा घरों,शहर में लगीं प्राधिकरण की स्क्रीनों पर स्लाइड चलायी जाएंगी। जिनके माध्यम से बताया जाएगा कि किस तरह व्यवहार परिवर्तन और जागरूकता से हम इन बीमारियों से बच सकते हैं। इन बीमारियों से बचने का सबसे उत्तम उपाय यह है कि हम मच्छरों को पैदा ही न होने दें। इसके लिए मलेरिया विभाग तमाम तरीके बताएंगा। उन्होंने बताया कि बाजार में खुले में बिकने वाले कटे फलभी बीमारी फैलाने का बड़ा कारण हैंए इसलिए खाद्य विभाग को इसके खिलाफ विशेष अभियान चलाने के लिए कहा गया है। इसमे शहर व देहात में अभियान का चलाया जाएगा । आशा ,आंगवाडी, एनएनएम की सहायता ली जाएगी।
मलेरिया अधिकारी सत्य प्रकाश ने बताया कि शासनादेश के अनुसार इसकार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग समेत 14 विभागों की भागीदारी रहेगी। इन विभागों में नगर विकास विभाग, पंचायती राज विभाग, ग्राम्य विकास,बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, पशुपालन विभाग, दिव्यांग कल्याण विभाग, समाज कल्याण विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, कृषि एवं सिंचाई विभाग, सूचना विभाग शामिल हैं। सभी विभागों को उनके कार्य और उत्तरदायित्वों के बारे में अवगत करा दिया गया है। इनके अलावा तमाम एनजीओए सामाजिक संस्थाओं का सहयोग लिया जाएगा।
अभियान के तहत जनपद में जागरूकता रैलियां निकाली जाएंगी। कार्यक्रम के लिए मलेरिया विभाग ने कर्मचारियों को प्रशिक्षित भी किया है। इसके साथ ही जनपद की आशाव आंगनवाडी एवं एएनएम कार्यकर्ता घर घर जाकर लोगों को संचारी रोगों और उनसेबचाव के प्रति जागरूक करेंगी। साथ ही यह भी बताएंगी की बीमारियों से बचने के लिए क्या करें और क्या न करें। नालियों में एंटी लार्वा का छिडक़ाव कराया जाएगा।


Popular posts
वाराणसी : पिता ने तीन बेटियों के साथ की आत्महत्या, सट्टेबाजी के कारण डूबा था लाखों के कर्ज में
Image
बाबा हरि शंकर दास जी महाराज कि पुण्य स्मृति
Image
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
रिक्त पदों पर पंचायत उपचुनाव का जायजा लेने पहुंचे डीएम व एसपी
Image
चिन्मयानंद केसः पीड़िता की जमानत याचिका पर सुनवाई टली, पीड़िता के वकील ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप