पुलिस लॉकअप में युवक ने लगाया फंदा, थाने पर पथराव और चक्काजाम, दो सस्पेंड
चिट्टे के साथ पकड़े गए युवक ने डमटाल पुलिस थाना के लॉकअप में फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली। इस संदर्भ में पुलिस विभाग ने कार्रवाई करते हुए दो पुलिस कर्मियों को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड कर दिया, जबकि मामले की मजिस्ट्रेट जांच करवाने की बात कही। वहीं दूसरी ओर पुलिस लॉकअप में हुई युवक की मौत मामले में परिजनों ने गुस्सा पुलिस थाना डमटाल पर निकाला

परिजनों ने पुलिस थाना पर जहां पथराव किया, वहीं डमटाल सड़क मार्ग को बाधित करने की भी कोशिश की। इस दौरान परिजनों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। जानकारी के अनुसार डमटाल पुलिस थाना में चिट्टे की खेप सहित पकड़े गए युवक आकाश पुत्र जोगिंद्र पाल निवासी भद्रोया ने कंबल से लॉकअप में बने रोशनदान के सरिए से फंदा लगा लिया।
वहीं जैसे ही ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों ने युवक को फंदे झूलता देखा तो उसे तुरंत फंदे से उतारा और इसकी सूचना डीएसपी नूरपुर डॉ साहिल अरोड़ा को दी गई। वहीं मौके पर पहुंचे डीएसपी और थाना प्रभारी डमटाल हरीश गुलेरिया की टीम ने आनन-फानन में युवक को इंदौरा अस्पताल पहुंचाया। लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही युवक ने दम तोड़ दिया। मृतक को नूरपुर अस्पताल के बाद पोस्टमार्टम के लिए टीएमसी से ले जाया गया, जहां शव का पोस्टमार्टम वीडियोग्राफी के बीच किया जाएगा, ताकि सारी सच्चाई सामने लाई जा सके।
दो कर्मी किए हैं सस्पेंड: एसपी
युवक के डमटाल पुलिस थाना में लॉकअप के दौरान कंबल का फंदा लगाया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए टांडा अस्पताल भेजा है, जहां वीडियोग्राफी के बीच उसका पोस्टमार्टम होगा। वहीं इस मामले में ड्यूटी पर लापरवाही बरतने पर दो पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही मामले की मजिस्ट्रेट जांच करवाई जाएगी। -विमुक्त रंजन, एसपी कांगड़ा।