प्रदूषण पर केजरीवाल ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- दिल्ली की जनता को गाली देना बंद करे विपक्ष
दिल्ली-एनसीआर प्रदूषण के चलते गैस चेंबर में तब्दील हो गया है। यहां की वायु गुणवत्ता आपातकालीन स्थिति में पहुंच गई है, जहां सांस लेना बहुत मुश्किल हो गया है। ऐसे में पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण यानी ईपीसीए ने दिल्ली-एनसीआर में हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा कर दी है।

इसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह जानकारी दी कि ईपीसीए ने प्रदूषण की भयानक स्थिति को देखते हुए हेल्थ इमरजेंसी घोषित की है। दिल्ली के सभी स्कूल 5 नवंबर तक बंद रहेंगे।
उन्होंने ये भी कहा कि हमने प्रदूषण कम करने के लिए कई कदम उठाए हैं और आगे भी उठाते रहेंगे। दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का कारण पराली का धुआं है। ऐसे में हरियाणा और पंजाब सरकार को बताना चाहिए कि वो पराली जलने से रोकने के लिए कब तक कदम उठाएंगे। वहां के किसानों को कब तक टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराएंगे जिससे वो पराली न जलाएं।