गाँधी संकल्प पदयात्रा का प्रारंभ उपेन्द्र सिंह रावत सांसद जी की अगुवाई में गाँधी जयंती के शुभ अवसर पर किया गया था ।

बाराबंकी । गाँधी संकल्प पदयात्रा का प्रारंभ उपेन्द्र सिंह रावत सांसद जी की अगुवाई में गाँधी जयंती के शुभ अवसर पर किया गया था । पद यात्रा जिले में 167 किलोमीटर का सफर तय करके  गाँधी भवन में गोष्ठी को आयोजित करके तथा पटेल तिराहे पर लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल जी की मूर्ति पर माल्यार्पण करके समाप्त की गयी  । गोष्टी को सम्बोधित करते हुए सांसद उपेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि वल्लभ भाई पटेल जी की जयंती के मौके पर राष्ट्रीय एकता दिवस भी मनाया जाता है. पहली बार राष्ट्रीय एकता दिवस 2014 में मनाया गया था भारत का जो नक्शा ब्रिटिश शासन में खींचा गया था, उसकी 40 प्रतिशत भूमि इन देशी रियासतों के पास थी आजादी के बाद इन रियासतों को भारत या पाकिस्तान में विलय या फिर स्वतंत्र रहने का विकल्प दिया गया था सरदार पटेल  ने अपनी दूरदर्शिता, डिप्लोमेसी की बदौलत इन रियासतों का भारत में विलय करवाया था सरदार पटेल को जो सम्मान पहले मिल जाना जाना चाहिए था वह कांग्रेस के शासन काल में नही मिला ।  वह सम्मान माननीय प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जी ने विश्व की सबसे बड़ी प्रतिमा स्थापित करके दिया है, इसलिए पटेल जी देश को धरोहर है इन्हें युगों तक याद किया जाता रहेगा । गोष्टी को यात्रा संयोजक दिलीप मिश्रा , गुरुशरण लोधी , हर्षित वर्मा , संदीप गुप्ता , दिनेश चन्द्र रावत आदि ने भी सम्बोधित किया ।  कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव ने लोहिया जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कार्यक्रम के समापन की घोषणा की ।


      इस अवसर पर रचना श्रीवास्तव , सरिता सिंह , रोहित सिंह , कैप्टन विजय श्रीवास्तव , प्रेम रावत,सुशील रावत, चन्द्र प्रकाश , पाटेश्वरी , प्रमोद तिवारी , हंसराज यादव , शिवकुमार शर्मा , अशोक रावत , दिनेश पाठक बैटरी सर्विस , विष्णु मौर्या, अन्तरिक्ष रावत सहित सैकड़ो की संख्या में लोग उपस्थित रहें ।