गन्ना संस्थान में अनिश्चित कालीन धरने पर 16 सितम्बर से बैठा पीड़ित परिवार

बाराबंकी । समस्त सम्बंधित अधिकारी को भेजी सूचना ,लगाई सबसे गुहार, फिर भी नहीं हुआ उद्धार, अनिश्चित कालीन धरने पर 16 सितमबर से बैठा है पीड़ित परिवार । पीड़ित राम रती अपने पति योगेन्द्र कुमार गौतम व अबोध बच्चे के साथ सपरिवार स्थानीय थाने के आरक्षी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करके उनके विरूद्ध एफ आई आर पंजीकृत न करने दोषियों को गिरफ्तार ना करने पर आम आदमी के बैनर तले अनिश्चित कालीन धरने पर बैठी है।पीड़िता का आरोप है कि उसके पति को षडयंत्र रचकर बुलाया मारा पीटा सोने की चेन व नगदी छीन ली ।घरपर भी चढ़ाई की  यदि पति घर पर मिल जाते तो शायद जान से ही मार देते ।मोटर साइकिल उठा ले गये । पीड़िता ने बताया अपनी नन्द के साथ जब विरोध किया तो हम लोगों के साथ अश्लील हरकत की और कपड़े फाड़ दिये तथा थप्पड़ मारा।उस समय अली अहमद व तथा कथित ओमकार सादी वर्दी में थे।जिसकी शिकायत अपर पुलिस अधीक्षक से की थी कि दोषियों के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कर कार्यवाही करते हुए दोषी पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाए।लेकिन अभीतक कोई कार्यवाही न होने से आहत पीढ़ित अनिश्चित कालीन धरने पर गन्ना संस्थान में सपरिवार बैठी है।पीड़िता ने विगत 07 अक्टूबर को  शिकायती पत्र भेज कर गुहार लगायी है। जिसमें समस्त प्रकरण से अवगत कराते हुए यह भी लिखा है कि यदि अब भी न सुनेगी सरकार तो मुख्यमंत्री आवास के सामने 15 अक़्टूबर को पीढ़िता करेगी आत्मदाह । वहीं फ़तेह पुर पुलिस का कहना है कि बात संग्यान में आई है  ज़ांच जारी है, वैसे पुलिस पर जो आरोप लगाए हैं वो हैं निराधार हैं।सच्चाई यह है कि आज तक नहीं दर्ज हुई एफ़आईआर जो है जनता का अधिकार ।