एन.एस.एस.यूनिटी मिशन संस्थान द्वारा गांधी जयन्ती पर किया गया कार्यक्रम

गांधी विश्व में व्यक्तित्व से अधिक विचार के रूप में स्थापिता हो चुके हैं, उनकी विचारधारा वैश्विक अपील रखती है, आंतकवाद और भौतिकतावाद के इस दौर में गांधी की विचारधारा का महत्व पूरी दुनिया समझ रही है, ये विचार एन.एस.एस.यूनिटी मिशन संस्थान की प्रमुख डाॅ0 अनुपम श्रीवास्तव ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 150वीं जयन्ती के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह में व्यक्त किए, मिशन द्वारा सत्यप्रेमी नगर, बाराबंकी स्थित कार्यालय में महात्मा गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयन्ती के अवसर पर एक समरोह का आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में जनसहभागिता रही।
समारोह का आरम्भ महापुरूषों के माल्यापर्ण एवं दीप-प्रज्वलन के साथ हुआ, मिशन के सदस्य सुनील कुमार ने 'रामधुन' गाकर महात्मा गांधी को नमन किया, इस अवसर पर मिशन के सदस्यों ने अपने विचार भी व्यक्त किए, सुनील कुमार ने युवाओं में बढ़ती नशावृत्ति पर चिन्ता व्यक्त करते हुए गांधी जी की नशा-उन्मूलन मुहिम की तरह नशामुक्त समाज बनाने का संकल्प लिया।
कुमारी रूपरानी ने राष्ट्रपिता व शास्त्री जी के आदर्शों को अपनाने पर बल देते हुए कहा कि हमें इन महान विभूतियों की तरह जीवन में बड़े से बड़ा त्याग करने में पीछे नहीं हटना चाहिए, रोहित शर्मा ने शास्त्री जी की ईमानदारी एवं सादगीपूर्ण जीवनशैली को अपनाने पर बल दिया, जिससे समाज में भ्रष्टाचार कम किया जा सके।
कार्यक्रम में लोकगायक सुनील कुमार ने देशभक्ति व जागरूकता गीतों को प्रस्तुत कर सभी का मनमोह लिया, इस अवसर पर वीरेन्द्र श्रीवास्तव, अतुल कुमार, पवन कुमार, रानी कश्यप, मधु, लक्ष्मी, नन्हे कश्यप इत्यादि ने अपना विशेष सहयोग प्रदान किया, बड़ी संख्या में बच्चों की उपस्थिति समारोह के आकर्षण का केन्द्र रही, कार्यक्रम के अन्त में मिष्ठान्न-वितरण किया गया, अन्त में डाॅ0 अनुपम श्रीवास्तव ने सभी के प्रति धन्यवाद एवं आभार व्यक्त किया।