आइये मिलकर आत्महत्या रोकें मात्र 40 सेकेण्ड के प्रयास से

बाराबंकी 10 अक्टूबर    विष्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर  एक गोष्ठी का आयोजन “ आइये मिलकर आत्महत्या रोकें ” विषय पर कार्यालय मुख्य चिकित्साधिकारी बाराबंकी, के आर0सी0एच0 हाॅल में आयोजित हुयी। गोष्ठी में मुख्य अतिथि सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नन्द कुमार ने मानसिक स्वास्थ्य अधिनियम 2013 एवं मानसिक रोगो से संबंधित व्यक्तियों के विधिक अधिकारों की जानकरी दी। गोष्ठी की अध्यक्षता मुख्य चिकित्साधिकारी महोदय डा0 रमेष चन्द्र द्वारा की गयी। मुख्य चिकित्साधिकारी ने जीवन में ”मन“ को स्थिर रखने का महत्व एवं मानसिक बीमारियो की जागरुकता के बारे में विषेष ध्यान देने की अपील की। डा0 महेन्द्र सिंह नोडल अधिकारी एन0सी0डी0 ने  कार्यक्रम का संचालन किया एवं जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के बारे विस्तृत जानकारी दी। डा0 सौरभ मिश्रा नोडल अधिकारी मनोचिकित्सक ने विस्तार से मानसिक रोगों की पहचान एवं उसके रोकथाम के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की। गोष्ठी में बाराबंकी जिले के समस्त विभागों के अधिकारीगण/प्रतिनिधि, अपर/उप मुख्य चिकित्साधिकारी, समस्त सी0एच0सी0 के अधीक्षक/प्रभारी अधीक्षक , जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम टीम, एन0सी0डी0 टीम एवं कार्यालय मुख्य चिकित्साधिकारी बाराबंकी के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित हुए।
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बड़ागांव में एक वृहद षिविर का आयोजन विष्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर किया गया जिसमें मरीजो का परीक्षण एवं दवाइयाँ वितरित की गयी।