युवक को लिटा पेट्रोल छिड़क जिंदा जलाया, बचाओ-बचाओ चिल्लाता रहा आखिर में मिली राख, अब ये सच आया सामने
हरदोई में एक घर में घुसे युवक को चारपाई पर लिटाकर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी गई। रविवार शाम इलाज के लिए लखनऊ ले जाते समय उसने दम तोड़ दिया। जांच को पहुंचे एसपी को घटनास्थल पर चारपाई जली मिली। मामले में पुलिस ने युवती सहित पांच लोगों के विरुद्ध हत्या की रिपोर्ट दर्ज की है।

पुलिस घटना को प्रेम प्रसंग से जोड़कर देख रही है। भदैचा निवासी मोनू (22) पुत्र मिथलेश सांडी के एक कॉलेज में बीए द्वितीय वर्ष का छात्र था। शनिवार आधी रात मोनू की मां रामबेटी (56) को हार्टअटैक पड़ गया। परिजन रामबेटी को लेकर जिला अस्पताल गए। रात 1 बजकर 10 मिनट पर चिकित्सकों ने हालत गंभीर बता उसे लखनऊ रेफर कर दिया।


 मिथिलेश की माने तो उसने मोनू को गांव स्थित मकान से 25 हजार रुपये लाने के लिए भेजा था। आरोप है कि रास्ते में गांव निवासी राधे गुप्ता पुत्र ठकुरी ने सत्यम सिंह व शिखर सिंह पुत्रगण शैलेंद्र सिंह चौहान, डाली गुप्ता पत्नी राधे गुप्ता, शिवानी गुप्ता पुत्री अज्ञात के साथ मिलकर रंजिश के कारण मोनू को घर में बंद कर लिया।

चारपाई पर लिटाकर पेट्रोल छिड़ककर मोनू को आग लगा दी। जानकारी पर मिथिलेश ने यूपी 100 को सूचना दी। पुलिस ने युवक को किसी तरह बाहर निकाला और जिला अस्पताल भेज दिया। डॉक्टरों ने रविवार शाम उसे लखनऊ रेफर कर दिया। लखनऊ ले जाते समय कछौना में मोनू ने दम तोड़ दिया। शाम को कड़ी सुरक्षा के बीच शव का पोस्टमार्टम कराया गया।
वहीं जिला अस्पताल में भर्ती कराई गई रामबेटी ने भी रविवार सुबह लखनऊ ले जाते समय दम तोड़ दिया। शहर कोतवाल शैलेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि विवेचना में शिवानी और मोनू के बीच प्रेम प्रसंग छह वर्ष से होने की बात सामने आई है। इसी के चलते घटना हुई है। शिवानी बार-बार बयान बदल रही है। अन्य आरोपी फरार हैं।