जन सत्याग्रह का तीसरा दिन
बाराबंकी। नगर पालिका अध्यक्ष और अधिशाषी अधिकारी के विरूद्ध गांधीवादी राजनाथ शर्मा का जन सत्याग्रह लगातार तीसरे दिन भी जारी रहा। इस दौरान जिला बार एसोशिएसन के अध्यक्ष भरत सिंह यादव, हिसाल बारी किदवई, बृजेश दीक्षित, कौशल किशोर त्रिपाठी, हुमायूं नईम खान, प्रसपा के वरिष्ठ नेता डाॅ. विकास सिंह यादव, धनंजय शर्मा, खालिद मुनव्वर बेग, भाकपा राज्य कौसिंल सदस्य रणधीर सिंह सुमन, भाकियू नेता निसार मेहंदी, समाजवादी विचारक नवीन चन्द्र तिवारी, कृष्ण कुमार द्विवेदी, नरेश नारायण अवस्थी, आकाश त्रिपाठी, हसीब हिन्दुस्तानी, मो0 उमेर किदवई, परवेज अहमद, सरदार राजा सिंह सहित विभिन्न संगठनों ने सत्याग्रह का समर्थन किया है। 

इस दौरान वरिष्ठ समाजवादी चिन्तक रघु ठाकुर ने कहा कि गांधी जयंती के 150वीं जयन्ती के आयोजन के लिए नगर पालिका मैदान हेतु आरक्षण आवेदन गांधी जयन्ती समारोह ट्रस्ट ने पर्याप्त समय पूर्व किया था। परन्तु नगर पालिका ने जान बूझकर उसे धार्मिक आयोजनों के नाम पर आरक्षित कर दिया। राष्ट्रपिता के स्मरण में यह बाधा उत्पन्न करने का षडयंत्र है। धार्मिक आयोजन तो अमूमन शहरों के चैराहों पर होते है। वहीं दुर्गा प्रतिमाएं स्थापित होती है। ऐसा प्रतीत होता है कि नगर पालिका स्वतः सामाजिक तनाव बढाकर महात्मा गांधी की चर्चा को टालना चाहती है। सूबे के राज्यपाल व मुख्यमंत्री से अपील है कि नगर पालिका मैदान को गांधी जयंती पर्व के लिए आवंटित करें और गांधीवादी राजनाथ शर्मा का अनशन समाप्त करायें। 

वहीं इस सत्याग्रह की चर्चा पूरे देश में हो रही है। वरिष्ठ पत्रकार धीरन्द्र नाथ श्रीवास्तव और बीएचयू के पूर्व अध्यक्ष चंचल सिंह ने भी अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सत्याग्रह का समर्थन किया है। हिन्दी पत्रकार एसोशिएसन के प्रदेश उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार द्विवेदी ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर अविलम्ब संबंधित प्रकरण को निस्तारित कराने का आग्रह किया है। वहीं दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता एस.एस नेहरा, संजीव दास, राजेन्द्र वर्मा, संजय सिंह, नीरज दत्त गौड़ ने एक बयान और पत्र प्रधान न्यायधीश को भेजा है। 

जारी कर्ता