बच्चों को चाइल्ड हेल्पलाइन नम्बर 1098 के प्रति जागरुक किया गया।

बाराबंकी। बुधवार को विकास खण्ड हरख के प्राथमिक विद्यालय मानपुर में
बच्चों को चाइल्ड हेल्पलाइन नम्बर 1098 के प्रति जागरुक किया गया। बच्चों
को चाइल्ड हेल्प लाइन नम्बर 1098 के प्रति जागरुक करते हुए चाइल्ड लाइन
सदस्य मनीष सिंह ने कहा कि 1098 एक आपातकाल फोन सेवा है। मुसीबत में फंसे
बच्चें इस नम्बर पर फोन करके मद्द ले सकते हैं। 1098 बच्चों के मुसीबत का
साथी है। आपको कहीं लावारिश दशा में नवजात शिशु दिखे, किसी बच्चे को
आश्रय की जरुरत हो, किसी बच्चे को पोषक आहार की जरुरत हो, कहीं बालश्रम
में लिप्त बच्चें दिखें, कहीं बाल विवाह होता दिखे तो आप उस बच्चे की
मद्द के लिये 1098 पर फोन करके मद्द कर सकते हैं। आपका एक फोन उस बच्चें
के जीवन में बदलाव ला सकता है। श्री सिंह ने बच्चों को जागरुक करते हुए
आगे बताया कि आप अंजान व्यक्तियों से हमेशा दूर रहें। आप जब भी घर से
निकले तो अपने माता को सही बताकर निकलें कि आप कहां जा रहे है। जब भी घर
में अकेले हो तो किसी अंजान व्यक्तियों को घर के अन्दर न आने दें, ऐसे
तीन व्यक्तिों का मोबाइल नम्बर याद रखें जिनसे आप मुसीबत में मद्द ले
सकते हो, अपने माता-पिता का नाम व घर पता याद रखें। वही चाइल्ड लाइन
सदस्य अनिल यादव, विकास वर्मा, विपिन कुमार ने चाइल्ड हेल्पलाइन 1098,
डायल 100, 108, 102, 181, 1090, 101 नम्बरो से मुसीबत में मद्द लेने के
लिये प्रेरित किया तथा बच्चों को हेल्प लाइन नम्बर याद कराने के लिये
बच्चों से दस नौ आठ, बच्चों की है ठाठ के नारे लगवायें। इस मौके पर
विद्यालय की शिक्षिकाओं रितुराज मौर्या, सादिया, अन्जू कोली ने बच्चों को
मुसीबत में इन टोल फ्री नम्बरोें से मद्द लेने के लिये प्रेरित किया।