प्रधानमंत्री मोदी के अलावा इन तीन लोगों को मिलती रहेगी एसपीजी सुरक्षा
देश में अब केवल चार लोग ही ऐसे हैं, जिन्हें विशेष सुरक्षा दल (एसपीजी) सुरक्षा मिली हुई है। एसपीजी की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री, पूर्व प्रधानमंत्रियों और उनके परिवारों के सदस्यों की सुरक्षा करने की होती है। अब ये सुरक्षा केवल चार लोग- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को मिली हुई है। इस बल में तीन हजार जवान तैनात हैं। 

बता दें एसपीजी में कर्मियों की नियुक्ति विभिन्न केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों से प्रतिनियुक्ति पर होती है। सोमवार को केंद्र ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की एसपीजी सुरक्षा को हटाते हुए उन्हें जेड+ सुरक्षा देने की 





क्या होती है एसपीजी


एसपीजी संघ की एक सशस्त्र सेना होती है जो देश के प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्रियों सहित उनके उस समय के निकटतम परिवार के सदस्यों को सुरक्षा प्रदान करते हैं। सेना की इस यूनिट की स्थापना 1988 में संसद के अधिनियम 4 की धारा 1(5) के तहत की गई थी। पूर्व प्रधानमंत्री, उनका परिवार और वर्तमान प्रधानमंत्री के परिवार के सदस्य चाहें तो अपनी इच्छा से एसपीजी की सुरक्षा लेने से मना कर सकते 





क्या खास है एसपीजी में?


एक सुरक्षा अधिकारी के मुताबिक एसपीजी अपने तीन हजार कमांडो के साथ इन चार लोगों को सुरक्षा प्रदान कर रहा है। एसपीजी ने अपनी कार्यप्रणाली में कई नए प्रयोग किए हैं। साथ ही इसने आईबी, राज्य और केंद्र शासित बलों के साथ समग्र सुरक्षा प्रणाली को भी अपनाया है। इस बल की खासियत ये है कि इसमें एक अनूठा प्रोटोकॉल है। 

यानी जब भी सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति के यात्रा करने की उम्मीद होती है, तो उनकी सुरक्षा के लिए कई छोटी टीमें बनाई जाती हैं। फिर संबंधित स्थान पर एजेंसी के अधिकारी पहले ही पहुंच जाते हैं और वीवीआईपी के आगमन से 24 घंटे पहले जगह को सुरक्षित बनाते हैं।





अत्याधुनिक हथियारों से लैस


एसपीजी बल के जवानों का प्रशिक्षण लगातार चलने वाली प्रक्रिया होती है और इसमें स्नापर्स, बम निरोधक विशेषज्ञ भी शामिल होते हैं। इनके प्रशिक्षण में शारीरिक कार्यक्षमता समेत कई तरह के अभ्यास होते हैं। एसपीजी कमांडो के पास अत्याधुनिक रायफल्स, संचार के कई अत्याधुनिक उपकरण, अंधेरे में देखने के लिए चश्मे, बुलेटप्रूफ जैकेट, गलव्स आदि होते हैं। इनके पास अत्याधुनिक वाहन भी होते हैं, जनिमें बीएमडब्लू 7 सीरीज की बख्तरबंद गाड़ियां, रेंज रोवर्स, बीएमडब्लू के एसयूवी, ट्योटा और टाटा के बख्तरबंद गाड़ियां शामिल हैं।