बाज नहीं आ रहा पाक, कश्मीर मुद्दे पर फिर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग को लिखा पत्र
पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार की स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त को एक और पत्र भेजा है। पाक विदेश कार्यालय ने कहा कि यह पत्र विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी द्वारा भेजा गया।

उसने कहा कि पत्र में भारत द्वारा पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेने के बाद के परिणाम पर विस्तार से प्रकाश डाला गया है।  पाक विदेश मंत्री का पत्र संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्यों के साथ साझा किया जा रहा है।


भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को स्पष्ट रूप से कहा है कि जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेने का उसका कदम पूरी तरह से आंतरिक मामला है और उसने पाकिस्तान को वास्तविकता स्वीकार करने की सलाह दी।
विदेश कार्यालय ने कहा कि इससे पहले कुरैशी ने चार अगस्त को पत्र लिखा था।


संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की राजदूत ने यूएनजीए अध्यक्ष से मुलाकात की



संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा की अध्यक्ष मारिया फर्नांडा एस्पिनोसा से यहां मुलाकात की और कश्मीर के हालात से उन्हें अवगत कराया।
सरकारी रेडियो पाकिस्तान की खबर के अनुसार मंगलवार को मलीहा ने ट्वीट किया कि कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र को अपने दायित्वों का निर्वहन करना चाहिए।
यूएनजीए अध्यक्ष के साथ सोमवार को हुई उनकी बैठक से महज कुछ ही देर पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि वह संयुक्त राष्ट्र महासभा समेत हर अंतरराष्ट्रीय मंच पर कश्मीर मुद्दे को उठायेंगे।