संचारी रोग नियत्रंण में आयी तेजी  कलेक्ट्रेट से एलईडी वैन का हरी दिखा कर किया रवाना  शहर व देहात में संचारी रोग को जोरशोर से किया जा रहा प्रचार

मेरठ । सोमवार से मेरठ समेत प्रदेश में शुरू हुआ संचारी रोग नियंत्रण माह में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों ने रूचि दिखानी आरंंभ कर दी है। इसी परिपेक्ष में बुधवार को कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी अनिल ढींगडा ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के बीच संचारी रोग को जन -जन तक पहुुंचाने के लिये तीन एलईडी को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। इस दौरान एलईडी वैन ने शहर व देहात क्षेत्र में संचारी रोग के प्रति लोगों को जागरूक किया। इस दौरान नुक्कड नाटक का आयोजन करी संचारी रोग पर कैसे नियंत्रण पाया जा सकता है। इसके बारे में विस्तार से बताया। इस दौरान दंतला ,कब्बटा, सीएचसी खरखौदा ,सीएचसी तारापुरी, अब्दुल्लापुर आदि स्थानों पर जागरूकता रैली निकालने के साथ एंटी लार्वा का छिडकाव करने के साथ लोगों को संचारी रोग से बचने के लिये पंफलेट वितरित किये गये।
जिलाधिकारी ने एलईडी वैन का हरी दिखाने के साथ बताया प्रदेश भर में सोमवार से एक माह के लिये यह अभियान चलाया जा रहा है। जिससे लोगों केा संचारी रोग से बचाया जा सके। उन्होनें कहा जरा सी सावधानी से इससे बचा जा सकता है। उन्होंने बताया गंदगी जलभराव से मच्छर, कीड़े मकोड़े कैसे पनपते है । अगर आम जन जागरूक हो तो इनसे बचा जा सकता है। उन्होंने बताया इस अभियान में १४ विभागों का सहयोग लिया जा रहा है। उन्होंने सभी विभाग के अधिकारियों को दिशा निर्देश दिये है। इसे सभी गंभीरता से ले। इससे सभी का फायदा है। एलईडी वैन ने
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डापीएस मिश्रा ने बताया कि 31 जुलाई तक चलने वाले संचारी रोग नियंत्रण माह में वैक्टर जनित बीमारियों के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसके लिए सिनेमा घरों शहर में लगीं प्राधिकरण की स्क्रीनों पर स्लाइड चलाई जाएंगी, जिनके माध्यम से बताएंगे कि किस तरह व्यवहार परिवर्तन और जागरूकता से हम इन बीमारियों से बच सकते हैं। इन बीमारियों से बचने का सबसे उत्तम उपाय ये है, कि हम मच्छरों को पैदा ही न होने दें। इसके लिए मलेरिया विभाग तमाम तरीके बता रहा है। उन्होंने बताया कि बाजार में खुले में बिकने वाले कटे फल भी बीमारी फैलाने का बड़ा कारण हैंए इसलिए खाद्य विभाग को इसके खिलाफ विशेष अभियान चलाने के लिए कहा गया है।
जिला मलेरिया अधिकारी सत्य प्रकाश ने बताया कि शासनादेश के अनुसार इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग समेत 14 विभागों की भागीदारी रहेगी। नगर विकास विभाग, पंचायती राज विभाग, ग्राम विकास, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभागए, पशुपालन विभाग, दिव्यांग कल्याण विभाग, समाज कल्याण विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, कृषि एवं सिंचाई विभागए सूचना विभाग शामिल हैं। सभी विभागों को उनके कार्य और उत्तरदायित्वों के बारे में अवगत करा दिया गया है।शहर जितना साफ रहेगा उतने ही मच्छर कम पैदा होंगे और बीमारियों पर नियंत्रण रहेगा। इनके अलावा तमाम एनजीओएसामाजिक संस्थाओं का सहयोग भी लिया जा रहा है।
उन्होंने बतायासंचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के दौरान गांवों में प्रधान को साथ में लेकर वैक्टर जनित बीमारियों के प्रति लोगों को जागरूक करेंगे। इसके साथ ही जनपद की आशा कार्यकर्ता घर घर जाकर लोगों को संचारी रोगों और उनसे बचाव के प्रति जागरूक करेंगी। साथ ही यह भी बताएंगी की बीमारियों से बचने के लिए क्या करें और क्या न करें। साथ ही नालियों में एंटी लार्वा का छिघ्काव कराया जाएगा। मलेरिया अधिकारी ने लोगों से अपील की है कि वे अपने घर और आसण्पास सफाई का विशेष ध्यान रखें। खाली पड़े पात्रों में पानी जमा न होने दें। सप्ताह में एक बार कूलर की सफाई अवश्य करें। जितना संभव हो मच्छरों के पनपने से रोकने का प्रयास करें।संचारी अभियान तहत सहायता के लिए टोल फ्री नंबर पर आवश्यक जानकारी देंण्ण्ण्और इस अभियान को सफल बनाने मे सहयोग करे। कोई भी समस्या होने हेल्पलाइन फ्री नम्बर - 18001805145 पर कॉल करे।


Popular posts
केवल कलम में ताकत है सत्ता से टकराने की
कृषि सूचना तंत्र का सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम एवं नेशनल फूड सिक्यारिटी मिशन
Image
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
स्वच्छता के प्रति जागरूक सफाई कर्मी  लाक डाउन के प्रति हम क्यो नही    
Image
धोखाधड़ी कर फ़र्ज़ी नाम से फ़ाइनेंस कराकर मोटरसायकिल बेचने वाले दो अभियुक्त गिरफ़्तार , 77 बाइक बरामद
Image