बाल स्वास्थ्य पोषण माह का आरंभ  नगला बटटू में विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल ने बच्चों को खुराक पिला कर किया श्रीगणेश  पांच वर्ष तक के बच्चों को दी जाएगी विटामिन-ए की खुराक

मेरठ। स्वास्थ्य विभाग और इंटीग्रेटेड चाइल्ड डेवलपमेंट सर्विसेज विभाग आईसीडीएसद्ध के संयुक्त तत्वावधान में बुधवार से बाल स्वास्थ्य पोषण माह का आरंभ हो गया। जो तीन अगस्त तक चलेगा। नगल बटटू में कैंट विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल ने बच्चों को विटामिन ए की खुराब पिला की अभियान का श्रीगणेश किया।
बाल स्वास्थ्य पोषण माह का शुभारंभ करते हुए विधायक ने कहा कि नौ माह से पांच के बच्चों को बेहतर पोषण बहुत जरूरी है। प्रदेश सरकार भी इसकें प्रति पूरी तरह गभीर हो चुकी है। उन्होनें बताया जुलाई माह में अभियान के तहत जिले में ३१५३ टीकाकारण सत्रों का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बच्चों के अभिभावकों से अपील की है कि वह अपने बच्चों को निकटतम टीकाकरण सत्र पर लाकर विटामिन ए की खुराक आवश्य पिलाए ,जिससे बच्चों में विटामिन ए की कमी से होने वाली रतौधी, डायरिया मीजिल्स से बचाते हुए बाल म्त्यु दर को कम किया जा सके।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा राजकुमार ने कहा इस अभियान में विटामिन ए पिलाने के अतिरिक्त ऑगनबाडी द्वारा बच्चों का वजन लिया जाएगा तथा गंभीर कम वजन के बच्चों को इलाज के लिये अस्पतालों में भेजा जाएगा। माताओं को स्तनपान ,कीडों से बचाव की दवा, ओआरएस तथा आयोडीन नमक के प्रयोग के महत्व के बारे में भी बताया जाएगा ।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी एसीएमओं डाण् विश्वास चौधरी ने बताया कि बाल स्वास्थ्य पोषण माह का उददेश्य नौ माह से पंाच वर्ष तक के बच्चों को बेहतर पोषण उपलब्ध कराना है। अभियान के दौरान इस आयु वर्ग के 4,२७८४२ लाख बच्चों को विटामिन ए की खुराक सीरप के रूप में दी जाएगी। इसमें आशा व आंगनवाडी कार्यकत्र्ताओं की भी मदद ली जाएगी। उन्होंने बताया प्रत्येक बुधवार और शनिवार को वीएचएनडी विलेज हेल्थ एंड न्यूट्रीशियन डे के मौके पर स्वास्थ्यकर्मियों के साथ आशा बहनें और आंगनबाडी कार्यकर्ता नौ माह से पांच वर्ष तक के बच्चों का वजन करेंगी। कुपोषित बच्चों को स्तनपान के अलावा ऊपरी आहार देने की सलाह दी जाएगी। आशा और आंगनबाडी कार्यकर्ता यह भी बताएंगी बच्चे को क्या.क्या खिलाएं कितना खिलाएं और दिन में कितनी बार खिलाएं। इतना ही नहीं बच्चों में खाने के प्रति रूचि बढ़ाने के उपाय भी माताओं को बताए जाएंगे। 9 माह से पांच वर्ष बीच की आयुु के बच्चों को प्रति वर्ष दो बार विटामिन ए निर्धारित खुराक दिये जाने से रोगों से लडने की क्षमता बढती है, और बच्चें भी स्वस्थ्य रहते है। इस मौके पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा पूजा शर्मा, डा रचना, कोर से प्रवीन कौशिक, यूनिसेफ से प्रदीप, नजमुनिशा, यूएनडीपी से सचिन,बब्बन शुक्ला ,बाबू राम अहलावत ,सचिन एवं चक्रवीर सिंह बाल विकास परियोजना अधिकारी शहर व आंगनबाडी प्रवेक्षक मौजूद रहे।


Popular posts
केवल कलम में ताकत है सत्ता से टकराने की
कृषि सूचना तंत्र का सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम एवं नेशनल फूड सिक्यारिटी मिशन
Image
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
स्वच्छता के प्रति जागरूक सफाई कर्मी  लाक डाउन के प्रति हम क्यो नही    
Image
धोखाधड़ी कर फ़र्ज़ी नाम से फ़ाइनेंस कराकर मोटरसायकिल बेचने वाले दो अभियुक्त गिरफ़्तार , 77 बाइक बरामद
Image