चचेरे भाई ने रची थी अपहरण की कहानी, हुआ खुलासा

मसौली, बाराबंकी। ताऊ के लड़कों को फंसाने के लिए भाई के साथ मिलकर रची थी दूधिये ने खुद के अपहरण का नाटक 15 दिन पूर्व नाटकीय ढंग से घर लौटे युवक ने पुलिस की पूछताछ में किया खुलासा। पुलिस ने भाई सहित अपहरण का नाटक करने वाले दूधिये के विरुद्ध मामला दर्ज किया  है। 
उल्लेखनीय हो कि गत 9 अप्रैल की देर शाम थाना क्षेत्र के ग्राम सुरसंडा निवासी संजय यादव पुत्र मुनेश्वर यादव सफदरगंज थाना क्षेत्र के ग्राम लक्षवर बजहा नित की भांति दूध लेने गया था जो वापस नही आया। काफी देर तक वापस न आने पर परिजनों ने जब तलाश की तो दूधिया संजय यादव की बॉइक नम्बर यूपी 41 एन 9860 रसौली रेलवे क्रासिंग के निकट केन सहित खड़ी मिली थी। संजय यादव के बड़े भाई विक्रम यादव ने अपने ताऊ के लड़कों गोविन्द, नरेन्द्र, प्रताप पुत्रगण श्त्रोहनलाल को नामजद करते हुए अपहरण करने का आरोप लगाया था। घटना के काफी समय तक दूधिये का पता न चलने से मसौली पुलिस काफी हलकान रही और नामजद ताऊ के लड़कों सहित संजय यादव के यार दोस्तों से पूछताछ की परन्तु संजय का पता नही चल सका। 
      अपहरण के 25 दिन अचानक दूधिये के भाई विक्रम यादव के मोबाईल पर संजय यादव ने फोन कर बताया कि हम चारबाग स्टेशन पर है हमे कुछ लोगो ने अपहरण कर अंजान जगह पर कमरे में बन्द रखा था तथा दो बार खून भी निकाला। संजय यादव ने बताया कि 3ध्4 मई की रात्रि अपहरणकर्ताओं ने हमे अमौसी एयरपोर्ट के आगे हॉइवे के किनारे छोड़कर चले गये है। जानकारी पर पहुँचे विक्रम यादव ने संजय को चारबाग से लाकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस की पूछताछ में दूधिये संजय यादव ने बताया कि जब हम लक्षबर से दूध लेकर आ रहे थे तभी स्कार्पियो सवार चार लोगो ने अपहरण कर लिया था तथा गोविन्द की चर्चा कर रहे थे। पूछताछ में अंजान स्थान पर बने कमरे में बन्द रखने के अलावा कई ऐसी बाते बतायी जो दाल में कुछ काला नजर आया। और तफ्तीश में जुटी मसौली पुलिस को अहम जानकारी मिली कि अपह्रत संजय यादव ने अपनी बरामदगी से दो दिन पूर्व 2 मई को कानपूर स्थित एक मोबाईल की दुकान पर अपने नाम सिम खरीदा तथा कानपूर के बनियाबाजार कैंट में रईस बाबू की डेयरी पर 11 अप्रैल को पहुँचकर काम के लिए बात की जिस पर रईस बाबू ने पड़ोस में ही स्थित संजय शर्मा की डेयरी पर 13 अप्रैल से  27 अप्रैल तक काम किया और 27 अप्रैल को ही डेयरी से गायब हो गया पुलिस की पूछताछ में संजय यादव ने भाई विक्रम के साथ मिलकर ताऊ के लड़कों को फंसाने के लिए अपहरण का नाटक रचा था। संजय यादव एव ताऊ के लड़कों के बीच सम्पति का विवाद चल रहा है। पुलिस ने दोनों भाइयो के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है।


Popular posts
वाराणसी : पिता ने तीन बेटियों के साथ की आत्महत्या, सट्टेबाजी के कारण डूबा था लाखों के कर्ज में
Image
ग़ैर जनपद से आए व्यक्ति के परीक्षण कराने का बिरोध करने पर कार्यबाही
आप से हाथ जोड़कर प्रार्थना है इस फोटो को एक एक व्यक्ति एवं एक एक ग्रुप में पहुंचा दो ये बच्चा किसकी है कोई पता नही लग पा रहा है और ये बच्चा अभी *सदर बाजार* थानेआगरा उत्तर प्रदेश में है,,,दया अगर आपके अंदर है तो इसे इगनोर मत करना ।
Image
लॉकडाउन  में  भी  बेच रहे थे शराब , पांच लोग गिरफ्तार । 
निजी विद्यालयों कॉन्वेंट स्कूलों की फीस ना जमा किए जाने के संबंध में मांग
Image